नलकूप से गाँव-गाँव में भेजी जाएगी हरियाली, घर- घर मे बढ़ने वाली है खुशहाली

सरकार ने हर तरीके से सिचाई की उत्तम व्यवस्था किसानों के लिए कराई हैं। उच्च कोटि के सिंचाई संबंधित समाधान के लिए सरकार ने कई सारी योजनाएं भी चलाएं हैं। जिसका मुख्य उद्देश्य इन योजनाओं के फल स्वरुप किसानों को अपने खेत में सिंचाई करने में कोई समस्या का सामना नहीं करना पड़े। वहा के वर्तमान राज्य सरकार के तरफ से ₹40000 सब्सिडी के तौर पर किसानों को उनके खेत में नलकूप लगाने के लिए दी जाएगी। तो लिए इन योजना से जुड़े सभी चीजों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

सरकार की तरफ से फसलों की सिंचाई के लिए किए गए बड़े अपडेट

Nalkup

जैसा कि हम सभी जानते हैं सरकार किसानों को सिंचाई संबंधित उत्तम व्यवस्था के लिए अनेकों प्रयास करने के साथ-साथ कई तरह के योजनाओं का आरंभ भी करते हैं। इन सभी योजनाओं में से एक नलकूप योजना (Tube Well) हैं। आपको बता दे कि इस योजना के तहत किसानों को दो तरह के ट्यूबवेल लगाने के लिए सब्सिडी प्रदान की जा रही है।

  • व्यक्तिगत नलकूप (Individual Tubewaell)
  • एकल नलकूप (Collective Tubewell Scheme)

फिलहाल तो केवल सूक्ष्म सिचांई योजना (माइक्रो इरिगेशन स्कीम) के तहत किसानों को केवल व्यक्तिगत नलकूप लगाने की सब्सिडी मिल रही है।

योजना के तहत किसानों को किसानों को कितना पैसा मिलेगा

आपको बता दे की ट्यूबवेल स्कीम जो की सरकार के द्वारा किसानों को खेती के दौरान सिंचाई की उत्तम व्यवस्था के लिए चलाई गई है। इस पर अमल करने के लिए किसानों को सरकार के द्वारा पैसे भी सब्सिडी के तौर पर दिए जा रहे हैं, जिसमें व्यक्तिगत नलकूप लगाने की राशि लगभग 40,000₹ हैं। इसके अलावा आपको बता दे कि बिहार सरकार को उद्धान निदेशालय ने ट्वीट करते हुए कहा है कि सूक्ष्म सींचाइ योजना के तहत हर खेत मे सिचाई के लिए पानी पहुँचना चाहिए।

आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया

  • सबसे पहले बिहार सरकार के अधिकारिक वेबसाइट Http://Horticulture.Bihar.Gov.In पर जाकर ऑनलाइन करेंगे।
  • इसके अलावा भी किसान CSC पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।

नलकूप योजना का उद्देश्य

आपको बता दे कि यह योजना (जो कि माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा चलाया गया है) का मुख्य उद्देश्य यह है कि साल 2025 आते-आते सभी सिंचाई की उत्तम सुविधा सूक्ष्म सिंचाई योजना Micro Irigation scheme के तहत पहुंच जाए। इसके अलावा इस योजना को सात निश्चय-द्वितीय कार्यक्रम के हिस्से की तरह शामिल किया गया है। जिसके उद्देश्य मे बहुत ही कम पैसें मे नलकूप लगवाकर किसान किसी भी समय अपने खेतों में सींचाइ कर सकते हैं। पानी की कमी न होने के कारण बड़े पैमाने पर फसलों का उत्पादन होगा। जिससे किसानों को भी भरपूर फायदे होंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top