Google Ke Logo Par Char Colour Kyun Hai | सोचो गूगल इतना कलरफुल क्यूँ होता है

Google Ke Logo Par Char Colour Kyun Hai – इंटरनेट से जुड़ी इस पूरी मॉर्डनाइज्ड दुनिया के बारे में यदि आप बात करें तो गूगल आप के लिए विशेष एप्लीकेशन है। आज हम आपके साथ गूगल के लोगों पर दिखने वाले चार कलर के बारे में जानकारियां साझा करेंगे। अक्सर आपने गूगल के लोगों का रंग बदलते देखा होगा पर क्या कभी आपने यह सोचा है कि गूगल के लोगों पर चार कलर क्यों होते हैं, इस प्रश्न का उत्तर पाने के लिए इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

Google me 4 rang kyun hote hai

आप भी यदि Google के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आज इस लेख के माध्यम से हम सभी गूगल के कार्य करने के तौर तरीकों के बारे में ,  गूगल की शुरुआत कब हुई, गूगल में इसके Logo तथा उसके रंगों के बारे में , गूगल के इतिहास से संबंधित  यानी इसकी उत्पत्ति कब हुई, इसे किसने बनाया, इसे बनाने में कितना समय लगा जैसी तमाम जानकारियों को आपसे साझा करने जा रहा हुं।

Google की शुरुआत कब और कैसे हुई थी | Google Ke Logo Par Char Colour Kyun Hai

Google की खोज से संबंधित ऐसे दो व्यक्ति जिन्होंने इंसानों के कार्यों को इंटरनेट के माध्यम से बिल्कुल आसान कर दिया। हम बात कर रहे है ,अमेरिका में बसे हुए मिशीगन प्रांत में जन्म लेने वाले लैरी पेज के संबंध में, इनका जन्म 26 मार्च 1973 ईस्वी को हुआ था। वे पिता कॉल विक्टर और मां क्यूरिया के सानिध्य में पले बढ़े थे। लैरी पेज के माता पिता वही के स्टेट यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस के प्रोफेसर थे। लैरी को भी बचपन से कंप्यूटर के क्षेत्र में काफी दिलचस्पी थी ।

लैरी पेज की शुरुआती पढ़ाई ओके बॉस मोंटेसरी स्कूल से प्रारंभ  हुई थी। लैरी बचपन से ही एक प्रतिभावान विद्यार्थी रहे थे। यहां से पढ़ाई समाप्त होने के बाद उन्होंने सन 1979 में ग्रेजुएशन पूरा किया। लैरी पेज ने आगे की पढ़ाई स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से प्रारंभ की और वहां पर उन्होंने पीएचडी करने का फैसला किया, उनके पीएचडी करने के दौरान उनकी मुलाकात गूगल के को फाउंडर सर्गी ब्रिन से हुई, और इन दोनों एक घनिष्ठ मित्र के रुप में होकर अपना अध्ययन करना प्रारंभ किया।

लैरी पेज और सर्गी ब्रिन ने पीएचडी के दौरान अपना विषय वर्ल्ड वाइड वेब को चुना, और इसी पर 4 वर्षों तक काफी लग्न से शोध किया, इन्होंने अपनी मेहनत के बदौलत इन 4 वर्षों में काफी मुश्किलों का सामना किया, इन्होंने वर्ल्ड वाइड वेब के जरिए सारी वेबसाइटों को एक जगह इकट्ठा कर लिया, जहां से हम डायरेक्ट किसी भी प्रश्न का आंसर पा सकते है, और इस प्रकार अंततः अपनी रिसर्च से सितंबर 1996 में गूगल का अविष्कार कर  दुनिया के सामने एक मिसाल कायम किया।

Google लोगों में 4 रंग क्यों होते है?

आपने इंद्रधनुष को विभिन्न रंगों में देखा ही होगा, इसी प्रकार से गूगल के Logo में चार अलग-अलग रंग होते है,और इन कारण से Google काफी आकर्षक दिखता है, इन Logo के चार कलर नीला, लाल, पीला और हरा होता हैं, यानी इसे प्राइम कलर के आधार पर रखा गया हैं। 

Google में कार्य करने वाले किसी भी व्यक्ति पर कोई भी दबाव नहीं डाला जाता है, वे जिस प्रकार से चाहे उस प्रकार से अपने कार्यों को कर सकते हैं । Google के जरिए वे अपने कार्यों को घर बैठे भी कर सकते हैं।

 Logo से संबंधित हमारे लैपटॉप स्क्रीन या हमारे कंप्यूटर स्क्रीन खोलने पर जिस तरह तरह के रंगों का मिश्रण दिखने को मिलता हैं, जो की RGB पैटर्न पर आधारित होता हैं। जिससे Google का Logo काफी आकर्षक दिखता हैं, जो बाकी कलर से अलग होता हैं।

Google लोगो किसने बनाया था

गूगल के Logo की यदि बात की जाय तो इसे केलिफोर्निया के स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय का एक छात्र जिसका नाम सर्गी ब्रिन हैं उसके द्वारा सन 1998 में फ्री ऑनलाइन एडिटिंग वेबसाइट GIMP के माध्यम से किया गया। यह Google के इतिहास का पहला Logo है।

1 सितंबर 2015 को एक संशोधित logo की सुरवात रूथ केदार के द्वारा डिजाइन किया गया। इस Logo के माध्यम से कैटल फोंट पर आधारित वर्ड मार्क हैं, जो एक पुरानी सैली पर आधारित वर्ड मार्क थी।

Google लोगों का इतिहास

सर्वप्रथम जगतार जी ब्रेन ने गूगल के लोगों का निर्माण किया उस वक्त गूगल के लोगों का रंग पूरी तरह काला था। गूगल के लोगों का काला रंग इसलिए था क्योंकि रानी एलिजाबेथ द्वितीय के राजकीय अंतिम संस्कार के सम्मान के निशान के रूप में गुगल ने अपना लोगो बदलकर पूरा काला कर दिया है। गूगल ने अपने लोगो के नीचे एक काला रिबन भी जोड़ा था। 

परंतु यह केवल 8 सितंबर के लिए ही मान्य होता है जिस दिन क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय की पुण्यतिथि है इसके अलावा आप देखेंगे गूगल का लोगो 4 प्राइम रंगों से बना हुआ है लाल पीला हरा एवं नीला। 

निष्कर्ष

उपरोक्त लेख के माध्यम से हम सभी ने Google Ke Logo Par Char Colour Kyun Hai से संबंधित सारे तथ्यों को ध्यान पूर्वक पढ़ा, और उनके बारे में सारी जानकारियां सटीक रूप से प्राप्त की। लैरी पेज और शर्गी ब्रिन के उन सारे पहलुओं पर एक एक करके प्रकाश डाला गया हैं, जिससे गूगल को बनाने के दौरान और उसके Logo में चार रंगो की सारी जानकारियों को दर्शाने हेतु संदर्भित किया गया है।

Google से संबंधित यह लेख यदि आप सभी को अच्छा लगा हो, और इस लेख से आपको काफी जानकारियां प्राप्त हुई हो, तो इस लेख को आप अपने परिवार, अपने मित्र , बंधु बांधव के साथ अवश्य शेयर करें। जिनसे उन्हें भी Google से संबंधित सारी जानकारियां प्राप्त हो सके।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top